Ask Your Query
5 Easy Ways (1)

गर्मियों में कैसे रहें दर्द-मुक्त

Read in English

जून का महीना आते ही भारत में सभी अत्यधिक गर्मी और पसीने से जूझने लगते हैं। और अगर आप किसी प्रकार के दर्द से भी परेशान रहते हैं, जैसे की कमर दर्द,या जोड़ों का दर्द, तो इस मौसम में अपने दर्द को काबू में रखना अपने आप में एक चुनौती बन जाता है।

 

मेडिकल रिसर्च से भी प्रमाणित हुआ है की गर्मी के मौसम में दर्द की स्थिति बढ़ जाती है। जो लोग आर्थराइटिस या गठिया से पीड़ित हैं, इस मौसम में उनके जोड़ों में सूजन बढ़ सकती है, जिससे दर्द में वृद्धि हो सकती है। कई अन्य प्रकार के दर्द, जैसे की कमर दर्द, हवा में नमी की वजह से और तीव्र हो जाते हैं। समस्याओं को और बढ़ाते हुए, अत्यधिक पसीने से शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिससे दर्द की स्थिति भी बदतर हो जाती है।

 

हम आपके लिए लेकर आये हैं 5 आसान तरीके ग्रीष्मकाल में अपने आप को सुरक्षित और दर्द मुक्त रखने के लिए:

 

5 Easy Ways (1)

प्रतिदिन 4 लीटर पानी पीएंगर्मियों में शरीर से आवश्यक द्रव निकल जाता है। इससे बचने के लिए दिन में कम से कम 3 से 4 लीटर पानी पीना आवश्यक है। इसके अलावा, कोल्ड ड्रिंक, कॉफ़ी या मदिरा का सेवन कम से कम करना चाहिए, क्यूंकि यह शरीर से पानी को और कम करते हैं। पानी का सेवन ना केवल ऐंठन, और जोड़ों के दर्द को रोकता है, इससे अन्य परेशानियां जैसे की गुर्दे की पथरी से भी बचाव होता है।

 

अत्यधिक व्यायाम ना करेंआमतौर पर दर्द से पीड़ित लोगों के लिए नियमित व्यायाम की सिफारिश की जाती है। पर यह भी देखा गया है कि गर्मियों में अत्यधिक व्यायाम से दर्द बढ़ भी सकता है। इसे रोकने के लिए, हमेशा अपनी सीमा में रहकर ही व्यायाम करना चाहिए। इस मौसम में केवल घर के अंदर या सुबह सुबह ही व्यायाम करें। स्विमिंग एक अच्छा व्यायाम है को इस मौसम में किया जा सकता है।

 

दर्द बढ़ने वाले खाने से बचेंकुछ खाद्य पदार्थ, जैसे मसाले, अत्यधिक नमक, काफी , कोला, दर्द से ट्रिगर होते हैं, जिनके सेवन से दर्द एकदम से बढ़ सकता है। यह विशेषकर सरदर्द/माइग्रेन और नसों के दर्द में देखा गया है। गर्मियों में खासकर ऐसे खाद्य पदार्थों से बचकर रहें।

 

अपनी नियमित दर्द की दवाओं का सेवन जारी रखेंयदि आप अपने दर्द विशेषज्ञ द्वारा निर्धारित नियमित दवाएं ले रहे हैं, तो उन्हें पूरे मौसम में जारी रखें। किसी भी दवाइयों को बदलने के लिए अपने डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें। चेतावनी: बिना डॉक्टर की सलाह के पेनकिलर ना लें।

 

दर्द असहनीय होने पर अपने दर्द विशेषज्ञ से अवश्य मिलेंयदि सावधानी बरतने के बावजूद दर्द असहनीय हो जाए, तो जल्द से जल्द अपने दर्द के विशेषज्ञ डॉक्टर से मिलिए। ऐसे दर्द को लम्बे समय तक अनदेखा करने के इस दर्द का इलाज और मुश्किल हो जाता है।

facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail